Wednesday, 17 October 2018

स्क्रैप एनपीएस : एनपीएस के सेवानिवृत्त कर्मचारी अपना पूर्ण प्रमाणिक विवरण कंफ़ेडेरेशन को तुरंत दें

एनपीएस के सेवानिवृत्त कर्मचारी कृपया ध्यान दें.........
NPS PENSIONERS – YOUR ATTENTION PLEASE ……

केंद्र सरकार के कर्मचारियों और श्रमिकों का कंफ़ेडेरेशन शुरुआत से ही कंट्रीब्यूटरी पेंशन योजना (एनपीएस) के खिलाफ लड़ाई लड़ता आ रहा है।

एनपीएस के शुरुआत के समय से ही केवल कन्फेडेरेशन और अखिल भारतीय राज्य सरकारी कर्मचारी संघ और वामपंथी दलों ने ही दृढ़तापूर्वक इसका विरोध किया था। परंतु वर्तमान स्थिति में केंद्र सरकार और राज्य सरकारों के सेवाओं में तथा केन्द्रीय / राज्य सार्वजनिक क्षेत्र में भी करीब 50% से अधिक कर्मचारी एनपीएस के अंतर्गत आते हैं। केंद्र और राज्य के वैसे सभी संघ जो पहले एनपीएस के विषय में भ्रमित थे और शुरुआत में उन्होने सरकार के फैसले का समर्थन किया था वे सभी भी अपने मूल स्टैंड को बदलने के लिए मजबूर हो चुके हैं और एनपीएस के खिलाफ अपनी आवाज उठाना शुरू कर दिये हैं।


केंद्र सरकार के कर्मचारियों और श्रमिकों का कंफ़ेडेरेशन अपने नेतृत्व में एनपीएस के खिलाफ एक गहन अभियान चला रहा है और सभी समान विचारधारा वाले संगठनों के व्यापक संयुक्त आंदोलन का शुरुआत करने की कोशिश कर रहा है ताकि यदि सरकार अपना स्टैंड बदलने से इंकार करती है तो “स्क्रैप एनपीएस” की मांग के साथ भविष्य में एक राष्ट्रव्यापी अनिश्चितकालीन हड़ताल का आयोजन किया जा सके।
 [post_ads]
प्रभावी अभियान के संचालन के लिए कन्फ़ेडेरेशन को निम्नलिखित प्रारूप में उन सभी एनपीएस कर्मचारियों के विवरण की आवश्यकता है जो पहले से ही सेवानिवृत हो चुके हैं।
  1. नाम और सेवानिवृत्ति के समय पदनाम
  2. कार्यालय और विभाग का नाम जहां से सेवानिवृत हुए हैं
  3. सरकारी सेवा में प्रवेश की तारीख
  4. सेवानिवृत्ति की तारीख
  5. सेवा में पूर्ण हुए वर्ष
  6. सेवानिवृत्ति के समय मूल वेतन
  7. सेवानिवृत्ति के बाद प्रतिमाह प्राप्त होने वाले बीमा अन्यूईटी पेंशन की राशि
कंफ़ेडेरेशन ने सभी से 31-10-2018 तक उपरयुक्त प्रामाणिक जानकारी और सहयोग करने का अनुरोध किया है।

 ****************************************** 

As you are aware Confederation of Central Govt Employees & Workers has been opposing and fighting against the Contributory Pension Scheme (known as NPS) from the very beginning. 
At the time of introduction of NPS, it is only Confederation, All India State Govt Employees Federation and the Left parties which strongly opposed it. Now a situation has developed that more than 50% of the employees in Central Government & State Government services and also in Central / State Public Sectors are NPS employees and even those Federations/ Unions/ Associations in the Central/ State Govt services who were either confused or kept quite or supported Govt decision to introduce NPS in the initial stage are compelled to change their original stand and started raising their voice against NPS.
Confederation of Central Govt Employees & Workers, as an organization spear heading this struggle, is making intensive campaign against NPS and trying to build up a broad united movement of all like-minded organizations so that a wider and bigger movement is built up no sooner than later, with an ultimate aim of organizing a nationwide indefinite strike to “SCRAP NPS” in future, if Govt is not ready to change their stand.
For effective campaign and also to expose the hollowness of the claim of the Govt and supporters of NPS, the following details of those NPS employees who have already retired from service is required.
  1. Name in full and Designation at the time of retirement:
  2. Name of the office and Department from which retires.
  3. Date of entry in service.
  4. Date of retirement.
  5. Completed years of service.
  6. Basic pay at the time of retirement.
  7. Amount of Insurance Annuity Pension being received now per month.
The information should be authentic.

All are requested to cooperate and furnish the above information before 31-10-2018.

M. KRISHNAN
Secretary General
Confederation
Mob & WhatsApp:
09447068125
e-mail:
mkrishnan6854@gmail.com

Source: ConfederationHQ


https://facebook.com/govempnews/
https://feedburner.google.com/fb/a/mailverify?uri=blogspot/jFRICS&loc=en_US
https://twitter.com/govempnews/
Next Post
Previous Post

0 Comments: